agarbatti-business-information-hindi


Incense Stick अगरबत्ती Making Process, Machine & Raw Material

अगरबत्ती बनाने का बिजनेस Incense Stick Making Machine & Raw Material

सबसे पहले जानते है की अगरबत्ती का इस्तेमाल कहाँ – कहाँ होता है |

अगरबत्ती एक ऐसी वस्तु है जो हर घर में, हर धर्म में इस्तेमाल होती है........

·         धार्मिक स्थान पर
·         घर में धार्मिक अनुष्ठान में
·         किसी भी प्रकार के पूजा पाठ में
·         मच्छरों को भगाने में
·         दुर्गन्ध को समाप्त करने में




अगरबत्ती बनाने के लिये कच्चा मालः- Raw Material

अब आपके मन में कुछ सवाल होंगे जैसे कि .....................

·         अगरबत्ती के बिजनेस को कैसे प्रारम्भ करें
·         इसके लिये कच्चा माल कहाँ से मगाँये
·         इस बिजनेस को करने में कितना पैसा लगेगा
·         इसे करने में कितने आदमी की आवश्यकता पड़ेगी
·         यह बाजार में कैसे बिकेगा और कितना मुनाफा होगा


इस बारे में सम्पूर्ण जानकारी के लिये rojgaarduniya.com के इस लेख को पूरा पढ़ें |

अगरबत्ती बनाने के लिए हमें जिस कच्चे माल  की आवश्यकता पड़ती है उसे agarbatti premix के नाम से जानते हैं। यह जो agarbatti premix है असल में यह कई चीजों माँ मिश्रण होता हे जिसमे चारकोल पाउडर, लकड़ी का पाउडर, गुड़ पाउडर मिला होता है,  यह पाउडर हमें बाजार में आसानी मिल जाता है। निचे दिए लिंक पर क्लिक कर के आप इसको खरीद सकते है |



इसके अतिरिक्त कुछ सामान की आवश्कता होती है जैसे 

·         अगर की लकड़ी (छड़ी)
·         खुशबूदार परफ्यूम
·         डी00पी0 लिक्विड
·         पाउडर को गूथने के लिए परात या कोई टब
·         पैकिंग के लिये पालीथीन

अगरबत्ती बनाने के लिए कच्चे माल को तैयार करने की विधि-



एक किलो कच्चा माल तैयार करने की प्रक्रिया 

1 किलोग्राम Premix पाउडर में लगभग 650 ग्राम पानी मिला लें और  पानी मिलाने के बाद पाउडर और पानी को मिलाने के बाद इसको गूथ कर आटे की तरह बना लेना है |इसके बाद हम इसे सीधे मशीन में रख कर अगरबत्ती बनाना सुरु कर देंगे |

अगरबत्ती निर्माण हेतु आवश्यक मशीनरी एवं उपकरणः- Incense Stick Making Machine & Important Tips.

अगरबत्ती बनाने की मशीन बाजार मूल्य में लगभग 50000 से 65000 रुपये के बीच में है। यह मशीन Fully Automatic Machine होती है और इसको चलाना बहुत ही आसान और एक साधारण पढ़ा लिखा व्यक्ति भी इसे आसानी से चला सकता हे |



तेयार primix को मशीन के बर्तन में रख देते है और फिर इसमें लकड़ी की छड़ी रख देतें है फिर आवश्कता के अनुसार मशीन की गति सेट कर के मशीन को चालू कर दो इसके बाद मशीन सामने रखे बर्तन में अगरबत्ती बना कर डालती जाएगी |बनी हुई अगरबत्ती को इकट्ठा करने के लिये प्लास्टिक के कैरेट की भी आवश्यकता पड़ती है।

एक किलो premix के साथ आपको लगभग 360 ग्राम लकड़ी की छड़ी चाहिए होगी यह मशीन एक दिन में लगभग 100 किलो अगरबत्ती बना सकती है |

अगरबत्ती बन जाने के बाद इसे  सूखने देते हैं। सुखाने के लिए इन्हें किसी कपडे पर बारीक फैला कर पंखे या खुली हवा से बंद कमरे में सुखाना है धुप में बिलकुल नहीं डालना है |



सूखने के बाद अब इसके बण्डल बना कर परफ्यूम में डुबोते है एक किलो परफ्यूम में चार किलो DEP लिक्विड घोल लेना है और इस प्रकार बने हुए घोल में अगरबत्तियों के बण्डल को डुबाकर निकलते जाते है इस प्रकार अगरबत्ती सूखने पर 100 किलो में से लगभग 70 किलो बचती है और पूरी लगत काट कर लगभग 30% मुनाफा हो जाता है |

बनी हुई अगरबत्ती को अपने अनुसार किसी पैकिंग में दाल कर खुले में बेच सकते है या फिर बड़े बण्डल के साथ होलसेल का काम भी किया जा सकता हे |
 

rojgaarduniya.com – motivated by make in India


Phenyl-making-Business-Process

फिनायल बनाने का उद्योग/व्यवसाय Phenyl making Business, Process, business, Raw Material Information

फिनायल बनाने का व्यवसायः Phenyl making business

फिनायल बनाने का व्यवसाय काफी कम पैसो के साथ सुरु किया जा सकता है। फिनायल को आप अपने घर पर स्वयं तैयार कर सकते है। फिनायल की आवश्यकता लगभग हर घर में रोज पड़ती है और घर ही क्यों इसकी आवश्यकता हर प्रांगन में है चाहे वह घर हो ऑफिस इसी कारण फिनायल की मांग हमेशा ही बनी रहती है, इसका मतलब इस उत्पाद को आसानी से बेचा जा सकता है।

आइये अब जानते हैं कि फिनायल की आवश्यकता आखिर कहाँ-कहाँ है?

1-    घरेलू इस्तेमाल मे
2-    चिकित्सा के क्षेत्र मे
3-    पशु चिकित्सा के क्षेत्र मे
4-    सरकारी व गैर सरकारी स्कूल कालेजों के प्रयोगशाला मे
5-    गाँव, देहात, शहर, एवं नगरों में कीटनाशक के रुप मे

फिनायल बनाने की विधिः-

इसके लिये आपको पहले बाजार से केवल एक लीटर कन्सन्ट्रेटेड (गाढ़ा) फिनायल खरीदना है इस में फिर १३ लीटर पानी मिला कर इस्तेमाल करने लायक फिनायल बनाया जाता हे कन्सन्ट्रेटेड फिनायल को आप google पर ढूंढेंगे तो कई कंपनी मिल जाएँगी जो इसे बेच रही हे |पानी मिले इस फिनायल को किसी बड़े बर्तन में डाल कर काफी देर तक हिलाते रहना हे ऐसा करते रहने से थोड़ी ही देर में आपका फिनायल तैयार हो जाता है |फिर इसे आधा एवं एक लीटर की बोतल में भर कर उस पर कंपनी का लोगो लगा कर बाज़ार में बेचा जा सकता हे |
•    अब जानते हे लागत एवं खर्च अगर हम केवल 5000 रुपये मे इसे सुरु करते है |
•    एक लीटर कन्सन्ट्रेटेड फिनायल की कीमत  = 100 रुपये मात्र
•    तेयार माल = 13 लीटर
•    एक लीटर फिनायल का बाजार में मिलने वाला भाव = लगभग 40 रुपये     
•    तेयार 13 बोतल का मूल्य = 520 रुपये
•    पैकिंग खर्च  = 5 / बोतल = 65 रुपये
•    अन्य खर्च = 20 रुपये
•    कुल खर्च = 200 रुपये लगभग                     
•    शुद्ध लाभ = 520 – 200 यानि  320 रुपये

ROJGAARDUNIYA  ADVICE – इसे सुरु करने के पश्चात या इसके साथ ही आप कुछ और व्यवसाय भी सुरु कर सकते है इनमे भी कोई ख़ास पूंजी की जरूरत नहीं होती हे जैसे:
•    टॉयलेट क्लीनर
•    लिक्विड हैण्डवाश
•    लिक्विड बर्तन वाश





Homeopathy Remedies in Hindi

homeopathyhub.com एक hindi वेबसाइट है जिसमे रोगों का होमियोपैथी और आयुर्वैदिक  इलाज़ दिया गया है और इसकी मदद से आप अपना इलाज़ स्वयं कर सकते है |
अपने रोगों के जिम्मेदार हम स्वयं है तो इलाज़ भी स्वयं ही करना होगा आइये अपनी चिकित्सा स्वयं करे क्योंकि लगभग 85% बिमारियों का इलाज़ तो स्वयं घर पर ही किया जा सकता है केवल 15% मामलो में ही  हमें किसी चिकित्सक की आवश्कता होगी |

अपनी चिकित्सा के लिए www.homeopathyhub.com आज हो खोले और रोज पढ़ें |

mushroom cultivation hindi


भारत जापान चीन  जैसे देशो में  आबादी अधिक हे और शाकाहारी भी है मशरूम जैसे भोजन का महत्‍व पोषण के हिसाब से से बहुत अधिक हो जाता है । हमारे यहाँ मशरूम का प्रयोग सब्‍जी के रूप में किया जाता है। यह विधि मेने भारत की मशरूम गर्ल दिव्या रावत जिन्हे उत्तराखंड के मशरूम अम्बेस्डर भी बनाया गया हे से प्रेरित हो कर बनाई हे |दिव्या जी ने मशरूम के क्षेत्र में बहुत ही उल्लेकनिये काम किया हे वो आज देहरादून में अपना ट्रेनिंग एवं रिसर्च संस्थान चलती हे जहाँ वो बहुत लोगो को ट्रेनिंग भी देती हे |

भारत में मशरूम उत्पादक दो समुह में है एक जो केवल निश्चित मौसम में ही मशरूम खेती करते हैं तथा दूसरे वो हे जो पुरे साल ही  साल मशरूम की खेती करते है |मौसमी खेती प्रमुखत्या हिमाचल प्रदेश, जम्‍मू-कशमीर, उत्‍तर प्रदेश उत्तराखंड । पूरे साल मशरूम की खेती इसके अलावा पुरे देश में की जाती है। देहरादून ,ऊटी गुडगाँव, पौंआ आदि जगह में देश में सबसे बड़ी इकाइयां लगी हुई हे  जहा प्रति वर्ष 5000 तन तक मशरूम पैदा होता है |

मशरूम की भारत में मुख्यत्या तीन  प्रजाति उगाई जाती है
(1) बटन (Button)
(2) ढींगरी (Oyster)
(3)धानपुआल या पैडीस्‍ट्रा (Paddy straw)

इन तीनो में बटन मशरूम सबसे अधिक खाया जाता है। तीनो टाइप की मशरूम की खेती  को किसी भी हवादार कमरे या सेड में आसानी से किया जा सकता है |

Best time for  mushroom Sowing  in India
जाने भारत देश में  बटन टाइप मशरूम उगाने का सबसे सही समय।

भारत में बटन मशरूम उगाने का सबसे सही समय OCTOBER से MARCH के महीने होते है |Button खुम्‍बी  के लिए सुरुवात के दिन से ही 22 - 26 डिग्री सेंटीग्रेड तापमान  की जरूरत  होती है क्योंकि इसी तापमान में कवक का जाल सबसे तीव्र  गति से बढता है। इसके बाद में 14 - 18 डिग्री ताप ही अच्छा रहता है ।

मशरूम के लिए कम्‍पोस्‍ट खाद को तैयार करना  | साधारण विधि से Compost को बनाने में बीस से पच्चीस दिन का टाइम लगता है |


बटन मशरूम के लिए एक विशेष प्रकार के खाद की जरूरत होती हे | कम्‍पोस्‍ट को   Pasturization अथवा निर्जीवीकरण से बनाया जाता है। निचे में इसकी विधि लिख रहा हूँ अगर आप इसको सही सही कर लेते हे तो आप खुद ही अच्छी खाद तैयार कर लेंगे |

भूसे से मशरूम की  COMPOST तैयार करना |

सामग्री (Composition)




100 सेंमी लम्बी, 50 सेंमी चौडी तथा 15 सेंमी ऊची 15 पेटियों के लिए इस विधि से कम्पेस्ट बनाने के लिए सामग्री:
 भूसा - लगभग 250 किलोग्राम
 बारीक कटी भूसी - 20-25 किलोग्राम
 कैल्शियम अमोनियम नाईट्रेट या अमोनियम सल्फेट   - लगभग 4 किलोग्राम
 यूरिया खाद वाला  - 3 किलोग्राम
 जिप्सम - 20 किलोग्राम


साफ़ सुथरे स्थान पर कम्पोस्ट तैयार करनी है | वहां पर भूसे की लगभग १० इंच मोटी लेयर बिछाकर उस पर साफ़ पानी का छिड़काव कर के अच्छी तरह से भिगो दें। भीगोने के लगभग 18  घंटे बाद दूसरा चरण सुरु होगा जिसमे उसमें जिप्सम तथा कीटनाशक को छोडकर बची हुई साड़ी चीजे  बहुत अच्छी तरह से मिला देंगे । फिर उस बने मिश्रण को एकसार ढेर में इकठ्ठा कर लेंगे |अब इस बने एकसार ढेर को हर तीसरे  दिन हवा लगाने के लिए साफ़ फर्श बर्रेक बिछा दें और आधा घंटे के बाद वापस उसी सामान आकार का ढेर में लगा  दें। अगर आपको लगे की  भूसा सूख गया है तो उस पर थोड़ा सा  पानी छिडककर दोबारा  गीला कर लें।

अब जब आप मिश्रण को तीसरी बार पलटें तो उसमे कुल  जिप्सम की आधी मात्रा मिला दें और बचे आधे जिप्सम को चौथी बार पलटने पर मिलाना है |5वीं पल्टन के समय 10 ML  मैलाथियान को लगभग 5 लीटर साफ़-पनी में मिला कर  भूसे पर एक सार छिड़क दें और सारे मिश्रण को अच्छे से  मिलाकर फिर से सामान आकर का ढेर बना लें । अब ४ दिनों में आपका खाद भरने के लिए तैयार हो जायेगा |

NOTE - मशरुम उत्पादन की ट्रेनिंग की किताब यहाँ से खरीदें |

अब तैयार कम्पोस्ट को साफ़ जगह पर पर बिछा दें और  एक क्विंटल कम्पोस्ट में 700 gram  से 1 kilo स्पान-बीज   अच्छी तरह से मिलाया जाता है।बीज की बाजार में कीमत लगभग २००-३००  रुपए के आस-पास होगी। बिजाई की गई कम्पोस्ट को  पॉलीथिन बैग में हल्का दबा-दबा  के भरलें  हर  बैग में दस  से पंद्रह किलो एक बैग में कम्पोस्ट भरें। अब दिन में दो बार पानी का हल्का छिड़काव करना हे |
लगभग ६-७ दिन बाद धागे की तरह का फफूंद दिखने लगेगा जो अगले ५ दिनों में पुरे कम्पोस्ट को सफ़ेद कर देगा अब इस फफूंद को हमें एक मिटटी खाद से ढकना हे |

आवरण मिटटी बनाने की विधि

लगभग २ साल पुराणी गोबर की काली खाद में किसी बाग़-बगीचे की मिटटी को तीन अनुपात एक के अनुपात में मिलाना हे। अब इसमें  ४% फर्मलीन का घोल  मिला  कर अच्छी तरह से मिला ले ।  अब इसे तीन से चार दिन तक तब तक उलटते पलटते रहे जब ताम इसमें फार्मलीन की गंध समाप्त न हो जाये। इसका  PH ७.5 होना चाहिए।  इसके बाद इसकी 4 CM मोटी सतह  कम्पोस्ट की थैलियों पर  बिछा दें |

अब इसे  बिछाने के बाद 2 % फर्मलीन के घोल का छिड़काव करना हे। और इसके बाद  एक या दो बार पानी  का छिड़काव जरूर करें। अब 15 से 18 दिन बाद मशरूम  निकलना चालू हो जाता है और अगले १५ दिनों तक निकलता रहता हे । तैयार मशरुम  को   दिन में   दो बार  हलके से अंगुलिओं के सहारे घुमा  कर  तोडना चाहिए। मशरूम बहुत नाजुक होती है और फ्रिज में इनका स्टोरेज  केवल 2-3 दिनों के लिए ही किया जा सकता है।

तोड़ने के बाद पैकिंग जल्दी ही कर ले और पैकिंग करते समय नहीं न रहे साथ ही ऐसे माध्यम में पैकिंग करे ताकि भेजते समय दबाव न पड़े |

अधिक जानकारी के लिए निचे दी गई वीडियो देख सकते है |



नोट : यह विधि विशेषज्ञ की देख रेख में लिखी गई हे फिर भी एक बार ट्रेनिंग जरूर ले लेनी चाइये |

Whare to Buy Mushroom Spawn in India - आप मशरूम का बीज निचे दिए गए स्थानों से खरीद सकते हे 

Facebook link of  Mushroom Girl For Training: https://www.facebook.com/Soumya-Foods... 

--------------------------------------------------------------------------------------------
(1)   Address: G.B. Pant University of Agriculture & Technology,, Pantnagar, Uttarakhand 263145
Phone: 05944 234 564
(2)   Directorate of Mushroom Research
(Indian Council for Agricultural Research)
Chambagaht, Solan – (HP) 173213 India
Dr. Mahantesh Shirur, Scientist (Extension)
Phone : 91-1792-230767,230541 (Ext. 236)

(3)    G.B. Pant University of Agriculture & Technology, Pantnagar – 263 145.

Ram Nath Kovind

राम नाथ कोविन्द - Ram Nath Kovind


श्री राम नाथ कोविन्द (Ram Nath Kovind) (Born  : 1 October 1945)  भारत के 14 वें राष्ट्रपति है श्री राम नाथ कोविन्द राज्यसभा सदस्य एवं बिहार के राज्यपाल भी रह चुके हैं। बीजेपी एवं  एन डी ए के द्वारा जून 19  2017 के दिन श्री राम नाथ कोविन्द भारत के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार घोषित किये गए।

Blog home not showing more than 2 or 3 posts

क्या आपका ब्लॉग भी होम पेज पर  केवल दो या तीन पोस्ट ही दिखा रहा हे |निचे दिए सोलूशन्स को पढ़े और अपनी पोस्ट में इसे कर के देखने यक़ीनन ही आपकी समस्या सुलझ जाएगी |

new gst rates slab

जाने किस चीज़ पर कितना टैक्स लगेगा जानें- GST लेखा जोखा
देश में नई टैक्स प्रणाली को लागू करने के लिए सरकार  की  जीएसटी काउंसिल ने टैक्स का स्लैब तय कर दिया है।1 जुलाई से लागू किए जाने वाले Goods and  Services  Tax   को लेकर फिलहाल 1,211 आइटम्स की दरें तय कर ली हैं। अधिकतर आइटम को 18  परसेंट में रखा गया हे |

CYBER ATTACK WannaCry Ransomware

CYBER ATTACK : WannaCry Ransomware !!

 क्या हे WannaCry Ransomware जिसके बारें में  आपको सबकुछ पता होना चाहिए , और इससे बचने के उपाए क्या हो सकते हे |

Jobs in Goa

Jobs in Goa for 10th and 12th

ssc-mp-region-recruitment


SSC MP Region Recruitment


Staff Selection Commission Madhya Pradesh Region has published a new job vacancies in Group C.Any one can apply online on official website of MP SSC which is given below in this Post There are many vacant posts 1.  Assistant Central Intelligence Officer 2.  Hindi Translator and more.All Candidate which are preparing for government jobs can apply online for these vacancies.After applying candidate should start preparing for Online Examination with Typing Test. All Required Information for SSC MP Region Recruitment are given below in this post. Last Date to submit Online application is 7th June 2017.




www.sscmpr.org Recruitment Full Deatils

Name of Company/ORG
SSC/Staff Selection Commission  MP
Post Name
Assistant Central Intelligence Officer, Translator
No of Vacancies
07
Educational Qualification Type
M.SC / Degree / M.A / 12th
Selection-Process
Written Examination, Typing Test and Document Verification
Last-Date to Apply
07-06-2017

www.sscmpr.org Group C Jobs Description

Job Details with Pay
Name of Post
No. Of Posts
Pay Salary
For Assistant Central Intelligence Officer
01
PB II, G.P.-INR. 4600/-
For Assistant Welfare Administrator
02
INR  9300-34800
Hindi Translator
02
INR  9300-34800
Jr. Clerk-Cum-Typist
03
INR  5200-20200


Educational & Qualification Details with Age Limit: 

Name of Post
Education Qualification
Age Details
Details of
Assistant Central Intelligence Officer
M.SC Degree in Chemistry or Physics; Knowledge Of Photography, Process Making And Lithography from well recognized University / Institute
20 - 25
Details of
Assistant Welfare Administrator
Degree of a recognized University in any one of the social science subjects such as economics, sociology etc.
20 - 27
Details of
Hindi Translator
M.A. (English/Hindi) with good academic records from well recognized University / Institute
18 - 27
Details of
Jr. Clerk-Cum-Typist
12th Class Or Equivalent Qualification, From A Recognized Board Or University,   (II) A Typing Speed Of 30 Words Per Minute In English Or 25 Words Per Minute In Hindi On Manual Typewriter Or A Typist Speed Of 35 Words Per Minute In English Or 30 Words Per Minute In Hindi On Computer
18 - 27


Application or Exam Fee: INR 100 for GEN/OBC Candidates and No Fee for SC/ST/Women/PH

Selection Procedure: Candidates will be selected on the basis of Online Exam and Merit List.


Important Dates:
  • Last-Date to Apply - 07th June 2017
  • Last Date to Submit Hard Copy of Online Application - 17th June 2017

How to Apply for SSC MP : Please  follow the Following steps given: 
  • You Should login to official website which is  ssconline.nic.in
  • On the  home page of official web-site see  “ADVERTISEMENT NO. MPR-01/2017” Click on that..
  • Read details carefully and now start to filling the application form
  • Now Upload all  documents which are required in scanned copies and then submit before the given Last date.
  • Now you should take printout of this online submitted form and send it through speed post to below address.

Postal Address:
“The Regional Director/Dy. Director (MPR),
Staff Selection Commission,
Madhya Pradesh Region,
J-5, ANUPAM NAGAR,
RAIPUR, C.G. – 492007”


Reminder: Dear candidates to get details for SSC MP Notification you must visit these links:

Click Here For Official Notification