agarbatti-business-information-hindi


Incense Stick अगरबत्ती Making Process, Machine & Raw Material

अगरबत्ती बनाने का बिजनेस Incense Stick Making Machine & Raw Material

सबसे पहले जानते है की अगरबत्ती का इस्तेमाल कहाँ – कहाँ होता है |

अगरबत्ती एक ऐसी वस्तु है जो हर घर में, हर धर्म में इस्तेमाल होती है........

·         धार्मिक स्थान पर
·         घर में धार्मिक अनुष्ठान में
·         किसी भी प्रकार के पूजा पाठ में
·         मच्छरों को भगाने में
·         दुर्गन्ध को समाप्त करने में




अगरबत्ती बनाने के लिये कच्चा मालः- Raw Material

अब आपके मन में कुछ सवाल होंगे जैसे कि .....................

·         अगरबत्ती के बिजनेस को कैसे प्रारम्भ करें
·         इसके लिये कच्चा माल कहाँ से मगाँये
·         इस बिजनेस को करने में कितना पैसा लगेगा
·         इसे करने में कितने आदमी की आवश्यकता पड़ेगी
·         यह बाजार में कैसे बिकेगा और कितना मुनाफा होगा


इस बारे में सम्पूर्ण जानकारी के लिये rojgaarduniya.com के इस लेख को पूरा पढ़ें |

अगरबत्ती बनाने के लिए हमें जिस कच्चे माल  की आवश्यकता पड़ती है उसे agarbatti premix के नाम से जानते हैं। यह जो agarbatti premix है असल में यह कई चीजों माँ मिश्रण होता हे जिसमे चारकोल पाउडर, लकड़ी का पाउडर, गुड़ पाउडर मिला होता है,  यह पाउडर हमें बाजार में आसानी मिल जाता है। निचे दिए लिंक पर क्लिक कर के आप इसको खरीद सकते है |



इसके अतिरिक्त कुछ सामान की आवश्कता होती है जैसे 

·         अगर की लकड़ी (छड़ी)
·         खुशबूदार परफ्यूम
·         डी00पी0 लिक्विड
·         पाउडर को गूथने के लिए परात या कोई टब
·         पैकिंग के लिये पालीथीन

अगरबत्ती बनाने के लिए कच्चे माल को तैयार करने की विधि-



एक किलो कच्चा माल तैयार करने की प्रक्रिया 

1 किलोग्राम Premix पाउडर में लगभग 650 ग्राम पानी मिला लें और  पानी मिलाने के बाद पाउडर और पानी को मिलाने के बाद इसको गूथ कर आटे की तरह बना लेना है |इसके बाद हम इसे सीधे मशीन में रख कर अगरबत्ती बनाना सुरु कर देंगे |

अगरबत्ती निर्माण हेतु आवश्यक मशीनरी एवं उपकरणः- Incense Stick Making Machine & Important Tips.

अगरबत्ती बनाने की मशीन बाजार मूल्य में लगभग 50000 से 65000 रुपये के बीच में है। यह मशीन Fully Automatic Machine होती है और इसको चलाना बहुत ही आसान और एक साधारण पढ़ा लिखा व्यक्ति भी इसे आसानी से चला सकता हे |



तेयार primix को मशीन के बर्तन में रख देते है और फिर इसमें लकड़ी की छड़ी रख देतें है फिर आवश्कता के अनुसार मशीन की गति सेट कर के मशीन को चालू कर दो इसके बाद मशीन सामने रखे बर्तन में अगरबत्ती बना कर डालती जाएगी |बनी हुई अगरबत्ती को इकट्ठा करने के लिये प्लास्टिक के कैरेट की भी आवश्यकता पड़ती है।

एक किलो premix के साथ आपको लगभग 360 ग्राम लकड़ी की छड़ी चाहिए होगी यह मशीन एक दिन में लगभग 100 किलो अगरबत्ती बना सकती है |

अगरबत्ती बन जाने के बाद इसे  सूखने देते हैं। सुखाने के लिए इन्हें किसी कपडे पर बारीक फैला कर पंखे या खुली हवा से बंद कमरे में सुखाना है धुप में बिलकुल नहीं डालना है |



सूखने के बाद अब इसके बण्डल बना कर परफ्यूम में डुबोते है एक किलो परफ्यूम में चार किलो DEP लिक्विड घोल लेना है और इस प्रकार बने हुए घोल में अगरबत्तियों के बण्डल को डुबाकर निकलते जाते है इस प्रकार अगरबत्ती सूखने पर 100 किलो में से लगभग 70 किलो बचती है और पूरी लगत काट कर लगभग 30% मुनाफा हो जाता है |

बनी हुई अगरबत्ती को अपने अनुसार किसी पैकिंग में दाल कर खुले में बेच सकते है या फिर बड़े बण्डल के साथ होलसेल का काम भी किया जा सकता हे |
 

rojgaarduniya.com – motivated by make in India


Reactions:

0 comments:

Post a Comment